मध्यप्रदेश कैम्पिंग पॉलिसी में प्रदेश की 80 साइटस का चिन्हांकन : पर्यटन मंत्री श्री बघेल

पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने विभागीय समीक्षा बैठक में कहा है कि पर्यटन के क्षेत्र में एडवेंचर और वॉटर टूरिज्म की गतिविधियों का विस्तार किया जाये। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा कैम्पिंग पॉलिसी में 80 साइटस का चिन्हांकन किया गया है। श्री बघेल ने प्रसिद्ध पर्यटन स्थल माँडू और साँची में जल्दी ही लाइट एण्ड साउण्ड शो शुरू शुरू करने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव, पर्यटन श्री हरि रंजन राव ने बैठक में प्रजन्टेशन में बताया कि टूरिज्म बोर्ड ने कैम्पिंग पॉलिसी तैयार की है। इसमें लगभग 100 और कैम्पिंग साउण्ड का चिन्हांकन होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि सिटी वॉक फेस्टिवल के अंतर्गत 11 स्थानों पर सिटी वॉक का सफल आयोजन किया गया। शीघ्र ही माँडू, पचमढ़ी और खजुराहो में गो हेरीटेज रन आयोजित की जायेगी। मध्यप्रदेश अब फिल्म निर्माताओं का पसंदीदा स्थल बनता जा रहा है। वर्तमान में प्रदेश में पॉंच फिल्मों की शूटिंग अलग-अलग स्थान और समय पर चल रही हैं। प्रसाद योजना के तहत ओंकारेश्वर में विभिन्न अधो-संरचना विकास के काम किये जा रहे हैं। बैठक में बताया गया कि विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो को आइकॉनिक साइट के रूप में भारत सरकार ने चिन्हांकित किया है। खजुराहो-नई दिल्ली रूट को उड़ान योजना में शामिल किया गया है। यूनेस्को क्रिएटिव सिटी के रूप में भोपाल को म्यूजियम, ग्वालियर को म्यूजिक, चंदेरी को टेक्सटाइल और इंदौर को क्यूजन (Cuisine city) सिटी के रूप में प्रस्तावित किया गया है। बैठक में हेरिटेज संवर्धन एवं हेरिटेज सेक्टर में संभावनाएँ, कैम्पिंग पॉलिसी और विभिन्न सर्किट के अंतर्गत किये जा रहे कार्यों पर केन्द्रित प्रजन्टेशन दिया गया। प्रस्तावित नर्मदा परिक्रमा पर्यटन प्लान पर भी विमर्श किया गया। बैठक में टूरिज्म बोर्ड की अपर प्रबंध संचालक श्रीमती भावना वालिम्बे सहित टूरिज्म बोर्ड और पर्यटन निगम के अधिकारी मौजूद थे।

रिलेटेड पोस्ट्स