जैसलमेर में पर्यटकों पर भारी पड़ा रेगिस्तान में रुकना ।

महीप भाटिया पर्यटन खबर जैसलमेर ।सम में रात 9 बजे तूफान, तिनके की तरह उड़े 500 से ज्यादा टेंट हजारों सैलानियों ने वाहनों में छिपकर बचाई जान, लाखों रुपए का नुकसान जैसलमेर जिले में मौसम में एकाएक आए बदलाव ने बुधवार की रात सम के धोरों पर तबाही का मंजर बना दिया। देर शाम 9 बजे शुरू हुई हल्की बूंदाबांदी व तेज हवाओं ने रात नौ बजे तेज तूफान का रूप ले लिया। एकाएक आए तूफान ने सम क्षेत्र के सभी रिसोट्र्स के टैंट तिनके की तरह उड़ा दिए। जानकारी के अनुसार करीब 50 से अधिक रिसोर्ट में 500 से अधिक टैंट उजड़ गए। तेज तूफान के बाद मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि ने सैलानियों को इधर-उधर भागने पर मजबूर कर दिया। जोगन रिसोर्ट में ठहरे प्रेम चैधरी ने बताया कि उनके यहां रिसोर्ट के सभी टैंट हवा में उड़ गए। बड़ी मुश्किल से तेज हवाओं का सामना करते हुए अपने अपने वाहनों तक पहुंचे। जोगन रिसोर्ट में सर्वाधिक नुकसान हुआ। तूफान के कारण टैंट उड़ गए, वहीं सामान इधर-उधर बिखर गया। इस दौरान 1 हजार से अधिक सैलानी सम क्षेत्र में थे। सम के 50 से अधिक रिसोर्ट में तूफान ने जबरदस्त तबाही मचाई, जिससे रिसोर्ट संचालकों के लाखों रुपए के टैंट व सामान हवा में उड़ गया। इसके अलावा वहां ठहरे सैलानियों को भी भारी नुकसान झेलना पड़ा। हालांकि शहर में मामूली बूंदाबांदी के बाद सर्दी का असर नहीं बढ़ा लेकिन आगामी दिनों में ठंड बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। रात में हल्की ठंड भी महसूस की जाने लगी थी, वहीं गत दो दिनों से तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। अधिकतम तापमान 38 डिग्री पहुंच गया। इस बीच बुधवार को देर शाम अचानक हल्की बूंदाबांदी ने मौसम का मिजाज बदल दिया। शहर सहित आसपास के इलाकों में भी बूंदाबांदी हुई।

रिलेटेड पोस्ट्स